नई दिल्ली /राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने कहा है कि भारत इस दशक की समाप्ति से पहले विश्व में तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने के लिए तैयार है। वे सर्बिया की राजधानी बेलग्रेड में कल भारतीय समुदाय को संबोधित कर रही थीं। राष्ट्रपति सर्बिया की तीन दिन की यात्रा पर हैं।

सामुदायिक अभिनंदन के कार्यक्रम की शुरुआत से पहले, ओडिसा में हुई भयानक रेल दुर्घटना में जान गंवाने वाले यात्रियों के प्रति मौन रखा गया। राष्ट्रपति ने अपने संबोधन में भारत में विभिन्न क्षेत्रों में हुई प्रगति को रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि देशभर में नई अवसंरचना तेजी से उभरकर सामने आ रही है और भारत 2047 तक विकसित देश बनने की दिशा में पूरे विश्वास के साथ आगे बढ़ रहा है।

व्यापारिक शिष्टमंडल में देश के तीन प्रमुख वित्तीय संगठन एसोचैम, सीआईआई और फिक्की शामिल हैं। व्यापारिक शिष्टमंडल में विश्वास व्यक्त करते हुए राष्ट्रपति मुर्मू ने कहा कि वह आश्वस्त हैं कि बैठक के बाद विभिन्न क्षेत्रों में व्यापार और निवेश बढ़ेगा।राष्ट्रपति मुर्मू कल सर्बिया पहुंचीं। निकोला टेस्ला हवाई अड्डे पर सर्बिया के राष्ट्रपति वुकिक ने भारतीय राष्ट्रपति की अगवानी की। द्रौपदी मुर्मू ने गांधीजेवा स्ट्रीट में महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की।

राष्ट्रपति आज सर्बिया के राष्ट्रपति वुकिक के साथ शिष्टमंडल स्तर की वार्ता करेंगी। इसके बाद राष्ट्रपति मुर्मू माउंट अवाला में अज्ञात शौर्यवीरों के स्मारक पर पुष्पचक्र अर्पित करेंगी।

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू की इस यात्रा में व्यापारिक अवसरों की संभावनाओं और अवसरों का पता लगाने के लिए दोनों देशों के व्यापारिक समुदायों को प्रोत्साहित किए जाने पर विशेष रूप से ध्यान दिया जाएगा।